आयुर्वेद का अर्थ औषधि - विज्ञान नही है वरन आयुर्विज्ञान अर्थात '' जीवन-का-विज्ञान'' है

Followers

Thursday, October 15, 2015

कामयाबी



एक छोटी सी कामयाबी मिली है। लोग कहते हैं कि एक बार डायलिसिस शुरू हो जाय तो ये सारी ज़िंदगी होती रहती है। पता नहीं क्यों। 
मगर अगर ये सच है तो आज दो लोगों को और उनके बीसों परिवारजनों को इस आफत से छुटकारा मिल गया। एक ७० वर्षीय बुजुर्ग हैं और दूसरे सज्जन तो अभी ४५ वर्ष के हैं। बुजुर्गवार की  डायलिसिस बंद हुए तो 8 माह हो गए। वे  प्रसन्न हैं। उनके नाती -पोते  भी  खुश। दूसरे सज्जन की तो अभी कच्ची गृहस्थी है और पूरा परिवार बहुत खुश है। 
और मेरी ख़ुशी आप निम्न पंक्तियों से समझिए ------
दीनों का संतोष, भाग्यहीनों की गदगद वाणी,
नयन-कोर में भरा लबालब कृतग्यता का पानी,
हो जाना फिर हरा,युगों से मुरझाये अधरों का ,
पाना आशीर्वचन,प्रेम,विश्वास अनेक नरों  का। 
       इससे बढ़ कर और प्राप्ति क्या जिस पर गर्व करें हम ?
        पर को जीवन मिले अगर तो हंस कर क्यों न मरें हम ? 
                                                          ……… रश्मिरथी 

भगवान से एक  ही प्रार्थना है कि मुझे आयुर्वेद का और गहरा ज्ञान दीजिये जिससे  मैं खुशियों के ढेर सारे फूल बिखेर सकूँ। 

3 comments:

Anonymous said...

God may help you more and more

Lalbahadur Dahiya said...

किडनी फेलियर के लिए क्या दवा है

Anonymous said...

pls lets us know details of it.We have relatives suffering from kidney problem